Computer Programming Course: कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में बनाएं अपना करियर, 12वीं के बाद करें ये कोर्स

Computer Programming Course: वर्तमान समय में सभी लोग डिजिटल हो चुके है। ऐसे में यदि आप कम्पूटरिंग प्रोग्रामिंग के क्षेत्र में अपना करियर बनाने चाहते है तो इस क्षेत्र में करियर बनाने के लिए बेहतर विकल्प मौजूद है। बारहवीं परीक्षा पास करके आप कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में अपना करियर बना सकते है। तो आइये जानते है की 12th पास करने के बाद विद्यार्थी कैसे कंप्यूटर कोर्स कर सकते है। आधुनिक समय में आज सभी कार्य कम्प्यूटर से ही किये जाते है। इस फिल्ड में करियर बनाने को लेकर सभी के पास बेहतर ऑप्शन है। आज कुछ ऐसी ही जानकारी हम देने जा रहे है जो Computer Programming Course के संबंध में सभी विद्यार्थियों के लिए फायदेमंद साबित होगी।

Computer Programming Course: कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में बनाएं अपना करियर, 12वीं के बाद करें  ये कोर्स
कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में बनाएं अपना करियर, 12वीं के बाद करें ये कोर्स

Computer Programming Course

आधुनिकी दुनिया के इस युग में आज के समय में सभी क्षेत्रों में कंप्यूटर देखने को मिलता फिर चाहे वह स्कूल कॉलेज हो या फिर बैंक या प्राइवेट संस्थान या अन्य प्रकार के कार्यालय सभी क्षेत्रों में कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग की काफी मांग बढ़ गयी है। किसी भी क्षेत्र में कंप्यूटर के बिना कोई भी कार्य करना संभव नहीं है। ऐसे में फिर आपको कंप्यूटर से जुड़ी जानकारी होनी आवश्यक है। आज के समय में छोटी कक्षाओं से ही बच्चों को कंप्यूटर की शिक्षा दी जाती है ताकि उन्हें भविष्य में किसी प्रकार की कोई समस्या न हो।

बेसिक कम्प्यूटर कोर्स

बेसिक कंप्यूटर कोर्स की अवधि 3 माह या 6 माह होती है। इस कोर्स में कम्प्यूटर के सामान्य जानकारियों के बारे में बताया जाता है। की आप कम्प्यूटर का इस्तेमाल किस प्रकार कर सकते है। सामान्य रूप से आप बेसिक कम्प्यूटर कोर्स में कंप्यूटर का परिचय प्राप्त कर सकते है। बेसिक कंप्यूटर कोर्स में इंटरेनट की जानकारी लेने के साथ अन्य जानकारी भी दी जाती है। जैसे –

  • Basic Introduction to Windows 
  • Microsoft Office
  • Basic information of print and printer
  • Knowledge of basic documents
  • Basic knowledge of typing

Desktop Publishing (DTP) कोर्स

डीटीपी को डेस्क टॉप पब्लिसिंग के नाम से जाना जाता है। यह पब्लिकेशन की एक नई टेक्नॉलोजी है। इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करके सॉफ्टवेयर के प्रयोग से ग्राफिक्स का काम किया जाता है। न्यूजपेपर, बुक्स, कार्ड आदि की प्रिंटिंग की जाती है। 1983 में DPT का निर्माण जेम्स डेविस ने किया था। DPT के तहत टाइपिंग से पेज को कम्पोस करके उसे लेजर प्रिंट के माध्यम से प्रिंट किया जाता है। डीटीपी के तहत डिजिटल पेज और वर्चुअल पेज को डिज़ाइन किया जा सकता है। ग्राफिक्स से जुड़े कार्य को जैसे पोस्टर बैनर, एडवर्सटाइमेंट, मैगजीन, बुक्स, न्यूजपेपर DPT के उपयोग से तैयार किया जा सकता है। इस कोर्स के आधार पर आपको इमेज एडिटिंग के क्षेत्र में जॉब मिल सकती है।

एनिमेशन और मल्टी मीडिया कोर्स

बारहवीं कक्षा पास करने के बाद कम्प्यूटर के क्षेत्र में यह कोर्स सभी विद्यार्थियों का पसंदीदा कोर्स बनता जा रहा है। यह कोर्स क्रेटिविटी की डिमांड रखता है। यदि क्रेटिविटी क्षेत्र में आप रूचि रखते है तो इस कोर्स से अपने करियर को एक नई उड़ान दे सकते है। यह कोर्स करने के बाद आप एनिमेशन स्टूडियो, मीडिया हाउस, विज्ञापन एंजेसियों, मीडिया चैनल, पब्लिकेशन हाउस में जॉब प्राप्त कर सकते है।

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment