Chhattisgarh Godhan Nyay Scheme: खुशखबरी! अब सरकार पशु पालकों से खरीदेगी गोबर, पढ़ें पूरी खबर

CG Godhan Nyay Scheme के अंतर्गत छत्तीसगढ़ सरकार के माध्यम से राज्य के पशुपालकों से गोबर ख़रीदा जायेगा। यह योजना राज्य के उन सभी किसानों को लाभान्वित करेगी जो पशुपालक है। यह योजना राज्य में वर्ष 2020 में शुरू की गयी थी। पशुपालकों को गोधन न्याय योजना के तहत 2 रूपए किलो की दर से गोबर ख़रीदा जायेगा। इसके साथ ही ख़रीदे गए इस गोबर का इस्तेमाल वर्मी कम्पोस्ट खाद बनाने के लिए किया जायेगा। पशुपालन के क्षेत्र को बढ़ावा देने के उद्देश्य एवं आवारा पशुओ की बढ़ रही संख्या में रोकथाम करने हेतु योजना को राज्य में लागू किया गया है। इस स्कीम के अंतर्गत पशुपालकों से 100 करोड़ रूपए गोबर की खरीद की जा चुकी है।

अब सरकार पशु पालकों से खरीदेगी गोबर

गोधन न्याय योजना के अंतर्गत अब पशुपालकों से 2 रूपए मूल्य की दर से गोबर ख़रीदा जायेगा। ख़रीदे गए इस गोबर का उपयोग वर्मी कम्पोस्ट खाद एवं एवं अन्य प्रकार के उत्पाद बनाने के लिए किया जायेगा। यह योजना राज्य में रोजगार के अवसर बढ़ाने में मदद करेगी साथ ही पशुपालकों को लाभान्वित करने में अपना सहयोग प्रदान करेगी। गोबर के माध्यम से बनाई गयी वर्मी कम्पोस्ट खाद को किसान नागरिकों को 8 रुपये मूल्य दर के हिसाब से प्रति किलों के रूप में बेचा जायेगा। यह योजना जैविक खेती को बढ़ावा देगी ,साथ ही गौ पालन एवं गौ सुरक्षा को प्रोत्साहन प्रदान करेगी और खुली चराई में रोक लगाने पर अपना सहयोग प्रदान करेगी।

राज्य के गौ पालको की आय में वृद्धि करने के लिए एवं उनकी आर्थिक स्तर को ऊँचा करने के लिए यह योजना राज्य में शुरू की गयी है। अब सभी पशुपालक व्यक्ति अधिक संख्या में पशु को पाल कर उनके गोबर से पैसे कमा कर अपनी आय में वृद्धि कर सकते है। यह सभी पशुपालको को आय में सुधार करने हेतु एक अवसर CG सरकार के द्वारा प्रदान किया गया है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना

CG Godhan Nyay Scheme के माध्यम से के माध्यम से अभी तक पशुपालकों से 100 करोड़ रूपए गोबर की खरीद की गयी है। 100 करोड़ रूपए की इस राशि में योजना के तहत स्वयं सहायता समूह को 1 करोड़ 41 लाख रूपए की राशि प्राप्त हुई। इसके साथ ही गौठान समितियों को 2 करोड़ 18 लाख रूपए की राशि प्राप्त हुई है।

स्वयं सहायता समूहों को इस राशि की कुल लगभग राशि 21 करोड़ 42 लाख रूपए एवं गौठान समितियों को 32 करोड़ 94 लाख रूपए की राशि वितरित की गयी है।

छत्तीसगढ़ गोधन न्याय योजना के लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार एवं अतरिक्त आय के साधन में वृद्धि होगी।
  • गोधन न्याय योजना के तहत 2 रूपए मूल्य दर से गोबर की खरीद की जाएगी।
  • ख़रीदे गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट खाद और अन्य प्रकार के उत्पाद तैयार किये जायेंगे।
  • गोबर से तैयार किये गए वर्मी कम्पोस्ट खाद की बिक्री सहकारी समितियों के अंतर्गत शुरू किया जायेगा।
  • शहरी क्षेत्रों में बढ़ रही आवारा पशुओं की संख्या में योजना के तहत निरंतर कमी आएगी।
  • गौ पालन और गोबर प्रबंधन से सभी पशुपालकों को योजना के तहत लाभ मिलेगा।

खुशखबरी! फिर से शुरू हुई गैस सिलेंडर की सब्सिडी, तुरंत चेक करें अपना बैलेंस

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment