भारत का संविधान कब लागू हुआ? | bharat ka samvidhan kab lagu hua

किसी भी देश को चलाने के लिए उस देश में कुछ नियम और कानून बनाये जाते हैं। इन नियम और क़ानून को उस देश में रहने वाले नागरिकों के धर्म ,जाति ,अधिकार ,कर्तव्यों ,रहन -सहन और जलवायु को देखकर बनाया जाता है। इन नियम और कानूनों के आधार पर ही देश की प्रगति संभव है। प्रत्येक वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस मनाया जाता है क्यूंकि इसी दिन 26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान बनाया गया था।

भारत का संविधान कब लागू हुआ? | bharat ka samvidhan kab lagu hua
The constitution of India

भारत की आधिकारिक भाषाएं । National language of India in Hindi

भारत का संविधान कब लागू हुआ? (Constitution Day of india) और इसे बनाने की आवश्यकता क्यों पड़ी सभी के बारे में आप जान सकेंगे। तो चलिए जानते हैं भारतीय संविधान के बारे में विस्तार से।

key Highlights of constitution of India

आर्टिकल का नाम भारत का संविधान कब लागू हुआ?
भारतीय संविधान को बनने में लगा समय 2 वर्ष 11 माह 18 दिन 
संविधान लागू वर्ष  26 जनवरी 1950
संविधान सभा हेतु चुनाव संपन्न जुलाई-अगस्त, 1946 
संविधान सभा में महिलाओं की संख्या 15
मूल संविधान में अनुच्छेद ,अनुसूचियाँ 395 अनुच्छेद और 8 अनुसूचियाँ

भारत का संविधान कब लागू हुआ?

भारत का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था। इससे बनने में कुल 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा था। संविधान के लागू होने की तिथि यानी 26 जनवरी को इसी उपलक्ष्य में भारत में हर साल गणतंत्र दिवस मनाया जाता है। जैसे की हम सभी जानते हैं भारत 1947 से पहले लगभग 200 वर्षों तक अंग्रेजों का गुलाम रहा। देश में संविधान लागू होने से पूर्व ब्रिटिश नियम के अनुसार ही कार्य होते रहे। 26 नवम्बर 1949 को संविधान को पारित किया गया था जिसके 2 महीने बाद 26 जनवरी 1950 को भारत में संविधान प्रभावी हुआ।

  • भारत में संविधान का मूल आधार भारत सरकार अधिनियम 1935 को माना गया है।
  • संविधान सभा की सर्वप्रथम मांग भारतीयों की ओर से मई, 1934 में रांची में स्वराज पार्टी ने की थी।
  • 1935 में संविधान के निर्माण के लिए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने आधिकारिक तौर पर संविधान सभा की मांग की थी।
  • 1942 में निर्वाचित विधानसभा द्वारा भारत के संविधान निर्माण का प्रस्ताव 1942 में क्रिप्स मिशन द्वारा किया गया था।
  • 1946 में प्रातिनिधिक निर्वाचन के आधार पर कैबिनेट मिशन योजना द्वारा भारतीय संविधान सभा का गठन हुआ था।
  • 1946 के कैबिनेट मिशन का उद्देश्य संविधान सभा का गठन करना था और इस संविधान सभा में कुल 389 सदस्य निर्धारित किये गए थे।
  • कुल सदस्य संख्या 389 में से 296 सीटें पर निर्वाचित सदस्यों को और 93 सदस्य मनोनीत किये गए थे।
  • साल 1946 में संविधान सभा के लिए चुनाव जुलाई-अगस्त के माह में संम्पन्न किये गए थे।
  • इन चुनावों में 296 सीटों पर कांग्रेस को 208, मुस्लिम लीग को 73 तथा अन्य को 15 सीटें मिलीं थी। लेकिन भारत के देशी रियासतों द्वारा संविधान सभा में भाग नहीं लिया गया।
  • 9 दिसंबर 1946 को संविधान निर्माण के लिए संविधान सभा की पहली बैठक हुई। इस बैठक में कुल 207 सदस्यों शामिल हुए थे।
  • संविधान सभा की इस बैठक की अध्यक्षता डॉ. सच्चिदानंद सिन्हा द्वारा की गयी थी जो की संविधान सभ के अस्थायी अध्यक्ष के रूप में चुने गए थे।
  • 11 दिसंबर, 1946 को संविधान सभा द्वारा डॉ. राजेंद्र प्रसाद को संविधान सभा का स्थायी सदस्य निर्वाचित किया गया।
  • भारतीय संविधान को बनाने में 2 वर्ष 11 माह एवं 18 दिन का समय लगा। और कुल 114 दिन चर्चा हुयी।
  • संविधान सभा में कुल 12 अधिवेशन किये गए थे और अंतिम दिन 284 सदस्यों ने इस पर अपने हस्ताक्षर किये।
  • संविधान बनाने में 166 दिन बैठक की गयी थी। संविधान सभा के 389 सदस्यों ने संविधान सभा के निर्माण में अपनी भूमिका निभाई।
  • 26 नवंबर, 1949 को संविधान को पारित कर लिया गया था।
  • संविधान सभा द्वारा 24 जनवरी, 1950 को 284 सदस्यों ने संविधान को अपनाने और इसे लागू करने के समर्थन में अपने हस्ताक्षर किये थे। और इसी दिन राजेंद्र प्रसाद जी को देश का राष्ट्रपति चुना गया था।
  • बेनेगल नरसिंह राव (बी.एन. राव) को भारतीय संविधान के निर्माण के समय सांविधानिक सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया था।
  • 26 जनवरी, 1950 को देश में संविधान पूर्ण रूप से लागू किया गया था।

संविधान सभा के बारे में कुछ विशेष बातें –

  1. भारतीय संविधान सभा का चुनाव भारत के संविधान के निर्माण के लिए किया गया था।
  2. सर्वप्रथम संविधान सभा की मांग 1895 में बाल गंगाधर तिलक द्वारा उठायी गयी थी।
  3. साल 1938 में अंतिम रूप से जवाहर लाला नेहरू ने संविधान सभा बनाने का निर्णय लिया ।
  4. संविधान सभा के सदस्यों का निर्वाचन अप्रत्यक्ष रूप से किया गया था। जिसके बाद जुलाई 1946 में इनके चुनाव किये गए थे।
  5. भारतीय संविधान सभा की स्थापना 6 दिसम्बर 1946 को की गयी थी और 24 जनवरी 1950 को इसे भंग कर दिया गया था।
  6. संविधान सभा के अस्थायी अध्यक्ष सच्चिदानन्द सिन्हा जी थे। बाद में राजेंद्र प्रसाद जी को इसका अध्यक्ष बनाया गया।
  7. संविधान सभा के प्रारूप समिति के अध्यक्ष भीमराव आम्बेडकर जी थे। और सलाहकार बीएन राव जी थे।
  8. दिसंबर 1946 से जून 1947 तक संविधान सभा के सदस्यों की संख्या 389 थी।
  9. जून 1947 से जनवरी 1950 तक कुल सीटों की संख्या 299 थी।
  10. भारत पाकिस्तान के बंटवारे के बाद संविधान सभा के 389 सदस्यों में से केवल 299 सदस्य भारत में रह गए जिसमें से 296 सदस्य चुने गए थे और 70 मनोनीत थे।
  11. संविधान सभा में कुल महिला सदस्यों की संख्या 15 थी।
  12. संविधान सभा में अनुसूचित जनजाति के 33 सदस्य थे।
  13. संविधान सभा द्वारा अपना कार्य 1 दिसंबर 1946 से शुरू कर दिया गया था।
  14. संविधान सभा के प्रमुख सदस्य डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ,भीमराव अम्बेडकर ,सरदार बल्लभ भाई पटेल ,श्यामा प्रसाद मुखर्जी ,जवाहर लाल नेहरू ,मौलाना अबुल कलाम थे।
  15. सच्चिदानंद सिन्हा संविधान सभा के पहले सभापति थे। इनके बाद राजेंद्र प्रसाद को सभापति निर्वाचित किया गया था।
  16. संविधान सभा ने 2 वर्ष 11 माह 18 दिन में कुल 114 दिन बैठकें की थी।
  17. संविधान सभा ने संविधान के निर्माण हेतु 22 समितियों का निर्माण किया था। इन 22 समितियों में से 8 प्रमुख समितियाँ थी।

भारत के संविधान निर्माण हेतु प्रमुख समितियां एवं उनके अध्यक्ष

  1. मसौदा समिति - बाबासाहेब आंबेडकर
  2. केन्द्रीय घटना समिति - जवाहरलाल नेहरू
  3. केन्द्रीय ऊर्जा समिति - जवाहरलाल नेहरू
  4. प्रान्तीय घटना समिति - वल्लभभाई पटेल
  5. अल्पसंख्यक, मूलभूत अधिकार,आदिवासी क्षेत्रों की सलाहकार समिति - वल्लभभाई पटेल
  6. राज्य समिति - जवाहरलाल नेहरू
  7. सुकाणू समिति - राजेंद्र प्रसाद
  8. राष्ट्रीय ध्वज तदर्थ समिति - राजेंद्र प्रसाद
  9. संघटन कार्य समिति की बैठक - गणेश वासुदेव मावलणकर
  10. सभा समिति - पट्टाभि सीतारमैया
  11. भाषा समिति - मोटूरि सत्यनारायण
  12. व्यवसाय समिति के आदेश - कन्हैयालाल माणिकलाल मुंशी
  13. राज्य समिति -गणेश वासुदेव मावलंकर
  14. प्रक्रिया समिति के नियम - राजेंद्र प्रसाद

अल्पसंख्यक, मूलभूत अधिकार,आदिवासी क्षेत्रों की सलाहकार समिति की उपसमितियां

  • अल्पसंख्याकांची उपसमिति -हरेन्द्र कुमार मुखर्जी
  • मूलभूत अधिकार उपसमिति - जे॰ बी॰ कृपलानी
  • उत्तर-पूर्व सीमान्त आदिवासी क्षेत्र उपसमिति - गोपीनाथ बोरदोलोई
  • वगळलेले आणि अंशतः वगळलेले क्षेत्र (आसाम के अतिरिक्त) उपसमिति - ठक्कर बापा

भारतीय संविधान के भाग

वर्तमान में भारतीय संविधान को 22 भागों में विभजित किया गया है तथा इसमे 395 अनुच्छेद एवं 12 अनुसूचियाँ हैं। सभी अनुच्छेदों को 22 भागों में बांटा गया है -

भागविषयअनुच्छेद
भाग 1संघ और उसके क्षेत्र(अनुच्छेद 1 से 4)
भाग 2नागरिकता(अनुच्छेद 5 से 11)
भाग 3मूलभूत अधिकार(अनुच्छेद 12 से 35)
भाग 4राज्य के नीति निदेशक तत्त्व(अनुच्छेद 36 से 51)
भाग 4Aमूल कर्तव्य(अनुच्छेद 51A)
भाग 5संघ(अनुच्छेद 52 से 151)
भाग 6राज्य(अनुच्छेद 152 से 237)
भाग 7संविधान (सातवाँ संशोधन) अधिनियम, 1956 द्वारा निरसित(अनु़चछेद 238)
भाग 8संघ राज्य क्षेत्र(अनुच्छेद 239 से 242)
भाग 9पंचायत(अनुच्छेद 243 से 243O)
भाग 9Aनगरपालिकाएँ(अनुच्छेद 243P से 243ZG)
भाग 10अनुसूचित और जनजाति क्षेत्र(अनुच्छेद 244 से 244A)
भाग 11संघ और राज्यों के बीच सम्बन्ध(अनुच्छेद 245 से 263)
भाग 12वित्त, सम्पत्ति, संविदाएँ और वाद(अनुच्छेद 264 से 300A)
भाग 13भारत के राज्य क्षेत्र के भीतर व्यापार, वाणिज्य और समागम(अनुच्छेद 301 से 307)
भाग 14संघ और राज्यों के अधीन सेवाएँ(अनुच्छेद 308 से 323)
भाग 14Aअधिकरण(अनुच्छेद 323A से 323B)
भाग 15निर्वाचन(अनुच्छेद 324 से 329A)
भाग 16कुछ वर्गों के लिए विशेष उपबन्ध सम्बन्ध(अनुच्छेद 330 से 342)
भाग 17राजभाषा(अनुच्छेद 343 से 351)
भाग 18आपात उपबन्ध(अनुच्छेद 352 से 360)
भाग 19प्रकीर्ण(अनुच्छेद 361 से 367)
भाग 20संविधान के संशोधनअनुच्छेद 368
भाग 21अस्थाई संक्रमणकालीन और विशेष उपबन्ध(अनुच्छेद 369 से 392)
भाग 22संक्षिप्त नाम, प्रारम्भ, हिन्दी में प्राधिकृत पाठ और निरसन(अनुच्छेद 393 से 395)

संविधान सभा में कुल महिलाओं की संख्या

संविधान सभा में कुल 15 महिलाओं ने भाग लिया उनके नाम इस प्रकार हैं-

  1. विजयलक्ष्मी पंडित
  2. राजकुमारी अमृत कौर
  3. सरोजिनी नायडू
  4. सुचेता कृपलानी,
  5. दक्षयानी वेलायुदन
  6. बेगम एजाज रसूल
  7. ऐनी मस्करीनी
  8. कमला चौधरी
  9. रेणुका राय
  10. पूर्णिमा बनर्जी
  11. लीला राय
  12. जी. दुर्गाबाई
  13. हंसा मेहता
  14. मालती चौधरी
  15. अम्मु स्वामीनाथन

भारत से सम्बंधित अन्य जानकारी भी पढ़ें :-

भारत का संविधान कब लागू हुआ से जुड़े अकसर पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)-

भारतीय संविधान कब लागू हुआ ?

26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू हुआ।

किस वर्ष संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को स्वीकार किया था ?

26 नवम्बर 1949 में संविधान सभा द्वारा भारतीय संविधान को स्वीकार किया था

संविधान सभा की प्रथम बैठक कब हुयी ?

9 दिसंबर, 1946 ई० को संविधान सभा की पहली बैठक नई दिल्ली में काउंसिल चैम्बर के पुस्तकालय भवन में हुई थी।

किस वर्ष मसौदा समिति को बनाया गया था ?

29 अगस्त 1947 मसौदा समिति बनाई गयी।

मसौदा समिति के अध्यक्ष कौन थे ?

भीमराव अम्बेडकर को मसौदा समिति का अध्यक्ष बनाया गया।

संविधान सभा के अस्थायी अध्यक्ष कौन थे ?

सच्चिदानंद सिन्हा को संविधान सभा का अस्थायी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था।

संविधान सभा के निर्माण में कितना समय लगा ?

संविधान निर्माण में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा।

प्रारूप समिति का गठन कब किया गया था ?

प्रारूप समिति का गठन 29 अगस्त, 1947 को किया गया था।

Leave a Comment