Bank Locker New Rules: 1 जनवरी 2022 से बदले जा चुके है बैंक लॉकर में रखे कीमती सामानों को लेकर नियम, जानें पूरी डिटेल्स

Bank Locker New Rules: देश में ऐसे कई नागरिक है जो अपने पैसे, गहनों व जेवरों को अपने घरों में रखना असुरक्षित मानते है। ऐसे में वह अपने जरुरी कागजाद, गहने पैसे आदि को बैंकों के लॉकर में रखना सेफ समझते है। यदि आप भी अपनी जरुरी चीजे लॉकर में रखते है तो आपके लिए यह खबर बहुत काम की होगी। आपको बता देते है रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ने सभी बैंको के लॉकर को लेकर नियमों को जारी किया है। यह सभी नियम 1 जनवरी 2022 से लागू कर दिए जायेंगे। चलिए जानते है और अधिक जानकारी Bank Locker New Rules नियमों के बारे में विस्तारपूर्वक।

जानिए बैंको के लिए नए नियम

आपको बता दें, देश के सभी सरकारी व प्राइवेट बैंक अपने ग्राहकों को उनकी जरुरी चीजे जैसे: गहने, पैसे, कागजाद आदि के लिए लॉकर की सुविधा उपलब्ध करवाती है और ग्राहकों से सालाना फीस भी लेती है लेकिन बैंक अपने ग्राहकों की चीजों का किसी प्रकार से हानि होने पर जवाबदारी नहीं लेती है। इसी संबंध में कोर्ट के आदेश के बाद RBI ने बैंक लॉकर को लेकर बैंकों की जवाबदेही को लेकर नियम बनाये है जिसमे उन्होंने लॉकर मैनेजमेंट को लेकर सभी सरकारी व प्राइवेट बैंकों के लिए निर्देश जारी किये है। नए निर्देश मौजूदा सेफ जमा लॉकर और बैंकों के पास वस्तुओं की सेफ कस्टडी दोनों पर ही लागू किये जायेंगे।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा सभी बैंकों को दिए गए थे निर्देश

फरवरी 2021 सुप्रीम कोर्ट ने रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया को 6 महीने के अंदर सभी प्राइवेट व सरकारी बैंकों को लॉकर मैनेजमेंट के लिए एक सामान नियम बनाने का निर्देश दिया था।

100 गुना होगी बैंक की जिम्मेदारी

यदि बैंक में किसी प्रकार की धोखाधड़ी, चोरी, भवन ढहने, आग आदि मामले होते है तो ऐसी स्थिति में बैंक को ग्राहकों की वस्तुओँ के लिए लॉकर के सालाना किराये के 100 गुना तक का भुगतान करना होगा। बैंक द्वारा ग्राहकों को यह नहीं कहा जा सकेगा कि लॉकर में रखे उनके सामान के नुकसान के लिए वे जिम्मेदार नहीं होंगे यानी अब बैंक की पूरी जिम्मेदारी हो गयी ही कि वह अपने ग्राहकों के सामन का पूरा ध्यान रखे।

देनी होगी खाली लॉकर्स की जानकारी

भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा यह कहा गया है कि सभी बैंकों को अपने बैंक के खाली लॉकर की जानकारी ग्राहकों को देनी होगी और साथ ही इसकी लिस्ट बनाकर अपने कंप्यूटर सिस्टम में भी रिकॉर्ड रखनी होगी। ऐसे में लॉकर्स के आवंटन में ट्रांस्पेरासी आएगी। यदि अगर ज्यादा लोग लॉकर्स हेतु आवेदन करते है तो लॉकर्स बांटने की वेटिंग लिस्ट भी बैंक द्वारा तैयार की जाएगी।

बैंक लॉकर में नॉमिनी को लेकर नए नियम Bank Locker New Rules

जो भी ग्राहक अपनी जरुरी चीजे बैंक लॉकर में जमा करवाता है उसे नॉमिनी करने का ऑप्शन भी बैंक द्वारा प्रदान किया जाता है। यह इसलिए किया जाता है ताकी यदि किसी लॉकर रखने वाल ग्राहक की मृत्यु हो जाती है तो उसके द्वारा रखा गया सारा सामान नॉमिनी को दे दिया जाता है। ऐसे में नॉमिनी चाहे तो बैंक लॉकर को जारी रख सकता है या उन वस्तुओं को निकाल सकता है।

पोस्ट ऑफिस की इस योजना में खुद पीएम मोदी ने किया है निवेश, जानें क्या हैं फायदे

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment