Bank Fraud: ठग करने वाले फोन कॉल से भी बैंक अकाउंट कर रहे खाली, जान लें ठगी का ये नया तरीका

Bank Fraud new method case | बैंक फ्रॉड का नया तरीका: बैंक से संबंधित फ्रॉड अक्सर सुनने में आते रहते हैं। बहुत से लोग इस तरह के फ्रॉड का शिकार हो चुके हैं। जिस के चलते समय समय पर बैंक व सरकार द्वारा जनहित में जारी सन्देश के माध्यम से इनसे संबंधित जानकारी देकर सचेत किया जाता रहा है। ऐसे कुछ सन्देश हर दूसरे दिन आप को भी मिलते होंगे जिनमे कहा जाता है की आप अपने ओटीपी किसी के साथ शेयर न करें। लेकिन क्या आप को पता है, बावजूद इस के आज भी कई बार लोग Bank Fraud का शिकार हो रहे हैं। और उनके बैंक खाते से सभी रूपए गायब हो रहे हैं। दरअसल, आजकल ऑनलाइन ठगी (cyber thugs) करने वाले नए तरीके से फ्रॉड कर रहे हैं जिसमें वो एक फ़ोन कॉल के माध्यम से ही बैंक से पैसे खाली कर रहे हैं।

Bank Fraud: ठग करने वाले फोन कॉल से भी बैंक अकाउंट कर रहे खाली, जान लें ठगी का ये नया तरीका
Bank Fraud

Bank Fraud: ठग करने वाले फोन कॉल से भी बैंक अकाउंट कर रहे खाली,

आजकल साइबर सेल के माध्यम से मिल रही जानकारी के अनुसार पिछले कुछ समय से एक फ़ोन कॉल के माध्यम से बैंक की जानकारी जुटा कर पैसे ठगने के मालों में बढ़ोतरी हुई है। इस बाबत कुछ समय पहले गृह मंत्रालय भी अलर्ट जारी कर चूका है। जैसे की आजकल सभी लोग ऑनलाइन ट्रांसक्शन करना ज्यादा सुविधाजनक समझते हैं जिस के लिए उन्हें बार बार ओटीपी आदि का इस्तेमाल करना होता है। ऐसे में कुछ जानकारी उनकी साइट्स पर भी रहती है। जिससे खतरा हमेशा बना ही रहता है , हालाँकि आप तब भी सुरक्षित हैं जब तक आप खुद अपनी अन्य आवश्यक जानकारी नहीं बता देते हैं।

Bank News: इन बैंकों के ग्राहकों को मिले 5 लाख रुपये, जानिए क्या है तरीका

बैंक फ्रॉड/Bank Fraud का नया तरीका अब सिर्फ एक फ़ोन कॉल है। जिस के माध्यम से ठग आप से कुछ पर्सनल जानकरी निकालने की कोशिश करते हैं। जिससे वो आप का बैंक खाता खाली कर सकें। बैंक फ्रॉड का नया तरीका – आजकल बहुत से क्रेडिट कार्ड और लोन लेने वाले फ़ोन कॉल्स के बीच कुछ ऐसे भी फ़ोन आते हैं जो आप को बातों बातों में कुछ जरुरी जानकारी जैसे की आप की निजी और गोपनीय जानकारी हासिल करने का प्रयास करता है। इन डिटेल्स में यूजर आईडी, लॉग इन और ट्रांजैक्शन पासवर्ड, ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड), URN (यूनिक रजिस्ट्रेशन नंबर), कार्ड पिन, ग्रिड कार्ड वैल्यू, सीवीवी या दूसरी निजी जानकारी जैसे जन्म की तारीख, माता का नाम आदि शामिल है।

सामान्य तौर पर ये ठग बैंक की तरफ से बात करने का दावा करते हैं। कृपया ध्यान दें की कोई भी बैंक अधिकारी / कर्मचारी आप को ओटीपी या पर्सनल जानकारी फ़ोन पर मांगने के लिए कॉल नहीं करेगा। इसलिए यदि कोई ऐसा करता है तो आप उसे कुछ भी जानकारी फ़ोन पर न दें। और तुरंत संबंधित बैंक में इस बात की शिकायत करें।

Bad Bank हो गया तैयार, आम आदमी को होगा फायदा, पढ़ें इससे जुड़ी सभी काम की बातें

Leave a Comment