Ayurveda: आयुर्वेद में तरबूज खानें के बाद पानी पीने को क्यों है रोक ? क्या सच में आपको हैजा हो सकता है?

Ayurveda: आयुर्वेद में तरबूज खानें के बाद पानी पीने को क्यों है रोक-आयुर्वेद में तरबूज खाने के बाद पानी पीना स्वास्थ्य के लिए बेहद बुरा माना गया है। यदि आप तरबूज खाने के बाद पानी पीते है तो इससे आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है। आइये जानते है की आयुर्वेद में तरबूज खाने के बाद पानी पीने से शरीर में क्या समस्या उत्पन्न होती है।

हमारे शरीर के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण तत्वों में से पानी एक विशेष तत्व है। जो शरीर को हाइड्रेट रखते हुए कई तरह की बिमारियों को दूर करने में हमारी मदद करता है। आयुर्वेद के अनुसार यदि आप गलत तरीके से पानी का सेवन करते है तो यह पाचन क्रिया पर बहुत बुरा प्रभाव डालता है।

आयुर्वेद में तरबूज खानें के बाद पानी पीने को क्यों है रोक Ayurveda

अक्सर आपने तरबूज खाने के बाद घरों में सुना होगा की तरबूज खाने के बाद पानी का सेवन नहीं करना चाहिए। आयुर्वेद के अनुसार तरबूज खाने के बाद पानी पीने से गंभीर बीमारी हो सकती है। कई लोगो ने तो इसे हैजा जैसी गंभीर बीमारी से भी जोड़ा है। भारत के प्राचीन आयुर्वेद में भी तरबूज के बाद पानी का सेवन करने से मना किया गया है। साथ ही तरबूज खाने के बाद एक्सपर्ट भी यही राय देते है की इसके बाद पानी नहीं पीना चाहिए।

क्या सच में आपको हैजा हो सकता है?

हैजा दूषित व संक्रमित किसी भी फल व पानी के सेवन से हो सकता है। लेकिन यदि तरबूज खाने के बाद आप पानी का सेवन करते है तो इससे पेट या हैजा से संबंधी दिक्कत होने के कोई प्रमाण नहीं है। पाचन सही ना होने से उलटी और दस्त जैसे लक्षण दिख सकते है लेकिन हैजा जैसी बीमारी को तरबूज और पानी के सेवन के साथ नहीं जोड़ा जा सकता है। यदि आप किसी भी प्रकार का फल का सेवन करते है तो आप उसके तुरंत बाद पानी का सेवन ना करे इससे आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है।

कुछ एक्सपर्ट का कहना है की फल के तुरंत बाद पानी का सेवन करना स्वास्थ्य के लिए बेहद नुक्सान दायक हो सकता है। इससे पेट भी खराब हो सकता है जिससे आपको असहजता हो सकती है। एक्सपर्ट का कहना है की तरबूज में काफी मात्रा में पानी प्राकृतिक सुगर फ्रुक्टोज और फाइबर उचित मात्रा में पाया जाता है। यदि तरबूज खाने के तुरंत बाद पानी का सेवन किया जाता है तो इससे पेट में लिक्विड का लेवल असंतुलित हो सकता है। जिससे डाइजेशन में प्रॉब्लम हो सकती है।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment