Aloe Vera Farming Business Idea: गेहूँ और चावल खेती से ज्यादा होगा मुनाफा इसमें, जानिए कैसे करें लाखों की कमाई

Aloe Vera Farming Business Idea: दोस्तों अगर आप बेरोजगार हैं या आप अपने खुद के बिजनेस की शुरूआत करना चाहते हैं, तो आज हम आपके लिए एक बेहतरीन बिजनेस आइडिया की जानकारी लेकर आए हैं जिसे शुरू करके आप लाखों की कमाई कर सकेंगे, यह बिजनेस बेहद ही फायदेमंद एलोवेरा जेल की खेती का बिजनेस है। एलोवेरा जिसके जेल में पाए जाने वाले औषधीय गुणों के कारण इसके कास्मेटिकस, आयुर्वेदिक दवाओं और बहुत से प्रोडक्ट्स की मार्किट में डिमांड होने से इसकी खेती करने वालों से एलो वेरा जेल की माँग हमेशा बनी रहती है। इस खेती की एक खासियत यह भी है की इस बिजनेस को शुरू करने के लिए आपको इसमें एक बार इन्वेस्ट करना होता है, जिसके बाद आपको पाँच सालों तक रिटर्न मिलता है।

एलोवेरा फार्मिंग बिजनेस आईडिया

एलोवेरा फार्मिंग बिजनेस (Aloe Vera Farming Business) की शुरुआत कोरोना के समय लॉकडाउन के चलते बहुत से लोगों के लिए बेहद ही फायदेमंद साबित हुआ है। एलो वारे जेल की खेती में अधिक रखरखाव की आवश्यकता नहीं होती, क्योंकि एलो वेरा की खेती रेतीली मिटटी में की जाती है, जहाँ खेत में अधिक पानी या पानी का ठहराव ना हो। इस मिटटी में एलोवेरा के पौधे से निकलने वाले बेबी प्लांट ज्यादा संख्या में निकलते हैं, जिनके निकालर दूसरी जगह लगाने से खेती बढ़ती है।

यदि बात करें खेती के लिए अधिक फायदेमंद एलो वेरा के प्रचलित पौधे की प्रजाति की तो घरों में सबसे अधिक दिखने वाला एलो वेरा की प्रजाति इंडिगो है। लेकिन इसकी दूसरी प्रजाति एलो वेरा बारबाडेंसिस को वर्तमान में अधिक उपयोग में लाया जाने लगा है, जिसके चलते इसके जूस, एलो वेरा जेल प्रोडक्ट्स, जूस, कॉस्मेटिक्स आदि की डिमांड अधिक बढ़ गई है।

कब और कैसे की जाती है एलोवेरा की खेती

एलोवेरा की खेती (Aloe Vera Farming Business) के लिए उसकी बुआई सही समय पर की जाए तो ही फायदेमंद होती है, इसके लिए फरवरी से अक्टूबर, नवंबर तक एलो वेरा की बुआई की जा सकती है, हालांकि किसान इसकी बुआई पूरे साल भर भी करते हैं, तो उससे भी कोई समस्या नहीं होती। इसकी खेती के लिए उष्ण जलवायु उपयुक्त मानी जाती है, जिसमे मिटटी का पीएच मान 8.5 होना चाहिए। यदि आप एलोवेरा पौधा लगाते हैं तो इस लगते समय दो पौधों के बीच दो फुट की दूरी होनी चाहिए, एक बार पौधा लगाने के बाद किसान साल में दो बार इसके पत्तों की कटाई जूस निकालने के लिए कर सकते हैं, जिसे वह बाजारों में अच्छी कीमत पर बेचकर बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं।

एलो वेरा पौधे की कैसे करें देखभाल

एलोवेरा पौधे की देखभाल के लिए अधिक मेहनत की आवश्यकता नहीं होती, दरअसल एलो वेरा के पौधे को उगने के लिए अन्य पौधों की तुलना अधिक पानी की आवश्यकता नहीं पड़ती, यह गर्म मौसम में कम पानी के उपयोग से उगाया जा सकता हैं। लेकिन अधिक पानी से इसके जड़े सकती हैं, इसके लिए जब तक सतह से दो इंच नीचे मिटटी सुख ना जाए ता तक इसमें दोबारा पानी न दें, एलो वेर में सामान्य मौसम में हफ्ते में एक बार और सर्दियों में कम पानी देना इसके लिए बेहतर होता है। इसके साथ ही एलोवेरा की पत्तियाँ जो बहुत मुलायम होती हैं इन्हे जानवर नहीं खाते लेकिन खेतों में जानवरों से सुरक्षित रखना आवश्यक होता है, क्योंकि उनके पैरों से इसकी पत्तियाँ टूट सकती है, जिससे खेती में नुक्सान हो सकता है।

Aloe Vera की खेती से होगी लाखों की कमाई

एलोवेरा की खेती को यदि एक बीघा खेत में किया जाए तो आसानी से 12 हजार एलोवेरा के पौधे लगाए जा सकते हैं, जिनकी खरीद में कुल 40 हजार रूपये तक का खर्च हो सकता है। एलो वेरा के पौधे की पत्तियों के बड़े होने पर एक पौधे से करीब 3.5 से 4 किलो तक के पत्ते मिल जाते हैं, जिनमे एक पत्ते की कीमत 5 से 6 रूपये तक होती है। इसके अल्वा एक पौधे के पत्ते की औसतन बिक्री 18 रूपये तक की हो जाती है। ऐसे में आप 40 हजार रूपये तक के एलो वेरा के पौधे की खरीद पर दो से डेढ़ लाख रूपये तक की कमाई कर सकते हैं।

जाने क्या है एलो वेरा खेती के लाभ

यदि आप एलोवेरा की खेती शुरू करते हैं तो इसके आपको बहुत से फायदे हो सकते हैं जैसे एलोवेरा की खेती की बुआई से कटाई तक आपको इसमें अधिक देखरेख की आ आवश्यकता नहीं होती, इसके खेती किसी भी बंजर भूमि में बेहद ही कम पानी और बिना किसी कीटनाशक या जैविक खाद की किया जा सकता है। एलो वेरा की खेती के लिए आपको केवल एक बार इन्वेस्ट करने पर पाँच वर्षों तक लाभ मिलता हैं, इसके अलावा जानव भी इसे नहीं खाते जिससे इसके नष्ट होने का खतरा कम होता है और इसके साथ ही एलो वेरा जेल से बनने वाले प्रोडक्ट्स के लिए मार्किट में इसकी अधिक डिमांड होने से इसकी बिक्री अच्छे दामों में करके आप लाखों रूपये की कमाई कर सकेंगे।

ऐसी ही और भी सरकारी व गैर सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment