7th Pay Commission: खुशखबरी! अगले वेतन आयोग में नए फॉर्मूले से बढ़ेगी केंद्रीय कर्मचारियों की सैलरी

7th Pay Commission: यदि आप भी केंद्र के कर्मचारी है तो आपके लिए यह खबर बहुत ही काम की साबित हो सकती है। खबरों के मुताबित अगले पे कमीशन में यानि 8वें वेतन आयोग में कर्मचारियों की सैलरी की बढ़ोतरी के लिए नया फार्मूला तैयार किया जायेगा। जल्द ही कर्मचारियों की वेतन में वृद्धि हो सकती है। चलिए जानते है अगले वेतन आयोग से जुडी जरुरी जानकारियों को।

केंद्र सरकार फिटमेंट फैक्टर से बढ़ने वाले वेतन से नए फॉर्मूले पर विचार किया जा सकता है। बता दें, सरकार ने हाल ही में केंद्र कर्मचारियों को 18 महीने का महंगाई भत्ता देने से इंकार कर दिया गया है। लेकिन नए फार्मूला से कर्मचारियों को थोड़ी राहत देखने को मिल सकती है।

7th Pay Commission की बेसिक सैलरी होगी हर साल तय

2016 में 7th पे कमीशन को लागू किया जायेगा। इसके बाद अब सरकारी कर्मचारियों की सैलरी 8वें वेतन आयोग के बनाये फॉर्मूले के अनुसार तय की जाएगी। सरकार नए फॉर्मूले को 2024 तक जारी करने की संभावना जता रही है लेकिन आपको बता दें अभी सरकार ने इस फॉर्मूले को लेकर किसी तरह की कन्फर्मेशन नहीं दी है। खबरों के मुताबित वेतन आयोग से अलग से सैलरी में वृद्धि लाने के फॉर्मूले पर सोचा जाना चाहिए। बता दें. कॉस्ट ऑफ़ लिविंग लगतार बढ़ने के कारण हर साल कर्मचारियों की सैलरी में इजाफा करना बहुत अच्छा ऑप्शन है।

केंद्र सरकार कर्मचारियों के वेतन को बढ़ाने के लिए Aykroyd फॉर्मूले पर विचार कर रही है। कर्मचारियों की बेसिक सैलरी फिटमेंट फैक्टर के आधार पर दी जाती है जिसमे 6 महीने में DA रिवाइज्ड होता है पर बेसिक सैलरी नहीं बढ़ती है। परन्तु नए फॉर्मूले में सैलरी, कॉस्ट ऑफ़ लिविंग और कर्मचारियों की परफॉरमेंस से जोड़ा जा सकता है जिसके बाद ही सैलरी में इनक्रेमेंट हो सकेगा ,यह फॉर्मल हूबहू प्राइवेट कंपनी सेक्टर में किया जाता है।

नया फार्मूला बनाने का क्या है उद्देश्य (7th Pay Commission New Formula)

केंद्र सरकार सभी कर्मचारियों को एक सामान फायदा प्रदान करना चाहते है। ग्रेड पे के अनुसार सभी के सैलरी में बहुत फर्क है नए फॉर्मूले के बनते ही इसमें अंतर देखने को मिल सकता है। सरकारी डिपार्टमेंट में अभी तक कुल 14 पे-ग्रेड है। बढ़ती महंगाई में सैलरी में इजाफा बहुत ही कम होता है। 7वें वेतन की सिफारिशों के समय जस्टिस माथुर ने इशारा की वह पे-स्ट्रक्चर को नए फॉर्मूले AYKROYD FORMULA की तरफ ले जाना चाहते है। इस फार्मूला में कॉस्ट ऑफ़ लिविंग को ध्यान में रखकर सैलरी तय की जाती है।

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment