LPG Price News: 1 अप्रैल से एलपीजी से इन सामानों के दामों में होने वाली है बढ़ोतरी

LPG Price News: साल 2022 के नए फाइनेंसियल ईयर जो कि अप्रैल महीने से शुरू हो जायेगा। सरकार द्वारा नए वित्त वर्ष में कुछ बदलाव किये जा रहे है। जिस तरह महंगाई दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही उसी तरह लोगों की जेबे ढीली होती जा रही है। जैसे की अब आपको पीएफ अकाउंट और क्रिप्टो करेंसी पर टैक्स देना होगा, उसी तरह गैस के दाम में बढ़ोतरी हो सकती है, ऐसे ही होम लोन पर अब मिल रही एडिशनल छूट भी आपको मिलना बंद हो सकती है। इसके साथ ही और अन्य बदलाव भी सरकार कर रही है जिससे आपका खर्चा ज्यादा बढ़ सकता है। आज हम आपको 1 अप्रैल 2022 से एलपीजी के जिन सामानों में दाम में बढ़ोतरी होने वाली है उसी के बारे में बताने जा रहे है, तो चलिए जानते है इससे जुडी जानकारियों को।

  • PF खाते पर लगेगा टैक्स : सरकार 1 अप्रैल से कई सारे बदलाव कर रही है जिसमे एक बदलाव यह भी है कि अबसे आपके पीएफ खाते में टैक्स लगेगा। EPF अकाउंट में 2.5 लाख रुपये तक टैक्स फ्री योगदान की लिमिट लगायी जा रही है। यदि इससे ज्यादा रुपये का योगदान होता है तो ब्याज आय पर टैक्स लगेगा। इसके साथ ही सरकारी कर्मचारियों के GPF खाते में भी फ्री योगदान की लिमिट 5 लाख रुपये सालाना तय की जाएगी।
  • क्रिप्टो करेंसी पर लगेगा टैक्स : बजट 2022-23 में फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने सभी वर्चुअल डिजिटल एसेट या क्रिप्टो पर 30% टैक्स लगाने का एलान किया है यदि क्रिप्टो करेंसी पर निवेशक को फायदे होता है तो उसे सरकार को टैक्स देना होगा।
  • खत्म होगी होम लोन पर अतिरिक्त छूट : 2019 के बजट में सरकार ने इनकम टैक्स एक्ट में नए सेक्शन 80 EEA को शामिल किया था। बता दें, इस सेक्शन के अंतर्गत यह प्रोविज़न (प्रावधान) किया गया था कि जो भी नागरिक पहली बार घर खरीदेंगे उन्हें होम लोन ब्याज भुगतान पर 1.5 लाख रुपये तक की एडिशनल टैक्स की कटौती पर फायदा दिया जाता है। यह बेनिफिट धारा 24 के अंतर्गत होम लोन के ब्याज पर 2 लाख तक के टैक्स पर छूट के अतिरिक्त है। लेकिन साल 2022 में इस सेक्शन को अब आगे नहीं बढ़ाया जायेगा।
  • महंगी होगी दवाइयाँ : साल 2022 के फाइनेंसियल ईयर में नागरिकों का खर्चा दवाइयों पर भी बढ़ने वाला है। 800 से अधिक दवाइयों की कीमतों पर 10.7% की बढ़ोतरी होने वाली है। जिसमे बुखार की दवा पैरासिटामॉल को भी शामिल किया गया है। नेशनल फार्मास्यूटिकल प्राइसिंग अथॉरिटी (NPPA) ने भी इन दवाइयों के होलसेल प्राइस इंडेक्स में बदलाव करने की मंजूरी सरकार को दे दी है।
  • पोस्ट ऑफिस में नकद में नहीं मिलेगा ब्याज : पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम, सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम, पोस्ट ऑफिस टर्म डिपाजिट में इन्वेस्ट से जुड़े नियम में भी बदलाव किये जा रहे है। पोस्ट ऑफिस की इन स्कीम में ब्याज की राशि नकद नहीं मिलेगी। इसके लिए नागरिक को सेविंग अकाउंट खोलना होगा। इसके साथ ही जिन भी नागरिकों ने इन योजनाओं के साथ अपने पोस्ट ऑफिस अकाउंट या बैंक अकाउंट को लिंक नहीं किया है उन्हें यह लिंक करवाना जरुरी होगी तभी उनके खाते में सीधे ब्याज का भुगतान होगा।
  • बदलेगा GST ई-चालान का नियम : CBIC (सेंट्रल बोर्ड ऑफ़ इंदिरेक्ट टैक्स एंड कस्टम) ने गुड्स एंड सर्विस टैक्स के अंतर्गत इलेक्ट्रॉनिक चालान को जारी करने के लिए टर्नओवर लिमिट को 50 करोड़ रुपये से घटाकर 20 करोड़ रुपये कर दिया है। बता दें, यह नियम भी अप्रैल से जारी कर दिया जायेगा।
  • म्यूच्यूअल फण्ड में होगा केवल डिजिटल भुगतान : अगर आप म्यूच्यूअल फण्ड में इन्वेस्ट करते है तो आपको इस अप्रैल से भुगतान चेक, बैंक ड्राफ्ट और अन्य किसी फिसिकल तरीके से नहीं कर सकेंगे। MFU (म्यूच्यूअल फण्ड एग्रीग्रेशन पोर्टल MF यूटिलिटीज 31 मार्च 2022 से चेक और डिमांड ड्राफ्ट की सर्विस को बंद कर रहा है अब केवल इन्वेस्ट करने के लिए ग्राहकों को UPI और नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करना होगा।
  • बढ़ सकते है एलपीजी के दाम : एलपीजी के दाम लगातार बढ़ते ही जा रहे है। संभावना है कि इस फाइनेंसियल ईयर में यह फिर से 50 से 100 रुपये फिर से बढ़ जायेंगे। यूपी, पंजाब समेत 5 स्टेट में चुनाव के कारण एलपीजी सिलिंडर और पेट्रोल डीजल में राहत देखने को मिली है।
  • व्हीकल (वाहन) कम्पनीज के बढ़ेंगे दाम : वाहन की कुछ बड़ी-बड़ी कम्पनीज अपने वाहन की कीमतों में बढ़ोतरी करने वाली है। जिसमे टाटा मोटर्स अपने कमर्शियल व्हीकल की कीमतों में 2.5% तक बड़ा सकती है। इसके साथ ही मर्सिडीज बेंज इंडिया अपने वाहन की कीमतों पर 3%, टोयोटो अपनी वाहन की कीमतों पर 4% , BMW 3.5% तक बढ़ाने का फैसला कर चुकी है।
  • एक्सिस बैंक में बड़ी न्यूनतम बैंक बैलेंस की सीमा : जिन भी कस्टमर्स का वेतन या बचत खाता एक्सिस बैंक में है। उन सभी के लिए खरब बहुत ही चौकाने वाली है। अब अप्रैल 2022 से एक्सिस बैंक ने अपने बचत खाते में मिनिमम बैंक बैलेंस की लिमिट 10 हजार से बढाकर 12 हजार कर दी है। इसके साथ ही मुफ्त नकद निकासी की लिमिट बदलकर 1.5 लाख रुपये कर दी है।

Also Check:

ऐसी ही और भी सरकारी योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट pmmodiyojanaye.in को बुकमार्क जरूर करें ।

Leave a Comment